‘अरशद’ अब्दुल हमीद

‘अरशद’ अब्दुल हमीद की रचनाएँ

रुकते हुए क़दमों का चलन मेरे लिए है रुकते हुए क़दमों का चलन मेरे लिए है सय्यारा-ए-हैरत की थकन मेरे…

2 months ago