अल्ताफ़ हुसैन हाली

अल्ताफ़ हुसैन हाली की रचनाएँ

धूम है अपनी पारसाई की धूम थी अपनी पारसाई कीकी भी और किससे आश्नाई कीक्यों बढ़ाते हो इख़्तलात बहुतहमको ताक़त…

3 months ago