अशरफ़ अली ‘फ़ुगां’

अशरफ़ अली ‘फ़ुगां’ की रचनाएँ

आलम में अगर इश्क़ का बाज़ार आलम में अगर इश्क़ का बाज़ार न होता कोई किसी बंदे का ख़रीदार न…

2 months ago