आबिद मुनावरी

आबिद मुनावरी की रचनाएँ

लाला-ज़ारों में ज़र्द फूल हूँ मैं लाला-ज़ारों में ज़र्द फूल हूँ मैं फ़स्ल-ए-गुल है मगर मलूल हूँ मैं चाँद-तारों को…

3 months ago