आसी ग़ाज़ीपुरी

आसी ग़ाज़ीपुरी की रचनाएँ

आशिक़ी में है महवियत दरकार  आशिक़ी में है महवियत दरकार। राहते-वस्ल-ओ-रंजे-फ़ुरक़त क्या? न गिरे उस निगाह से कोई। और उफ़्ताद…

2 months ago