एस.ए.मेहदी

एस.ए.मेहदी की रचनाएँ

कैफ़-ए-सुरूर-ओ-सोज़ के क़ाबिल नहीं रहा कैफ़-ए-सुरूर-ओ-सोज़ के क़ाबिल नहीं रहा ये और दिल है अब वो मिरा दिल नहीं रहा…

2 months ago