काज़िम जरवली

काज़िम जरवली की रचनाएँ

सरकारी स्कूल की खिचड़ी अच्छा है यही तुम मुझे भूखा ही सुलाना, अच्छी मेरी अम्मा कभी खिचड़ी न पकाना ।…

2 months ago