कुंवर नारायण

कुंवर नारायण की रचनाएँ

माध्यम वस्तु और वस्तु के बीच भाषा है जो हमें अलग करती है, मेरे और तुम्हारे बीच एक मौन है…

2 months ago