कृष्ण कुमार ‘नाज़’

कृष्ण कुमार ‘नाज़’ की रचनाएँ

वफ़ा भी, प्यार भी, नफरत भी, बदगुमानी भी  वफ़ा भी, प्यार भी, नफरत भी, बदगुमानी भी है सबकी तह में…

2 months ago