कैफ़ी आज़मी

कैफ़ी आज़मी की रचनाएँ

मेरा माज़ी मेरे काँधे पर अब तमद्दुन[1] की हो जीत के हार मेरा माज़ी है अभी तक मेरे काँधे पर सवार…

2 months ago