गिरधर राठी

गिरधर राठी की रचनाएँ

लेकिन कहाँ है जवाब?  बातें बेलाग हैं सवाल दो-टूक– कटे हुए जंगल जलती हुई औरतें ख़ाक छानते बच्चे लुरियाते जवाँ-मर्द… रंग हैं पहचाने रौशनी अधुंधली–… Read More »गिरधर राठी की रचनाएँ