जनार्दन राय

जनार्दन राय की रचनाएँ

जीरादेई में चमके सितारा जीरादेई में चमके सितारा बनके राजेन्द्र भारत दुलारा। जीरादेई में चमके सितारा॥ दीनता, दासता-पाश में थी,…

4 months ago