जमील मज़हरी

जमील मज़हरी की रचनाएँ

तोल अपने को तोल देख के कर्रोफ़र दौलत की तेरा जी ललचाय सूँघ के मुश्की ज़ुल्फ़ों की बू नींद-सी तुझ…

6 months ago