ताबिश मेहदी

ताबिश मेहदी की रचनाएँ

बला से मर्तबे ऊँचे न रखना  Script  बला से मर्तबे ऊँचे न रखना किसी दरबार से रिश्ते न रखना जवानों…

6 months ago