तारा सिंह

तारा सिंह की रचनाएँ

अगर फूल-काँटे में फरक हम समझते अगर फूल-काँटे में फर्क हम समझते बेवफा तुमसे मुहब्बत न हम करते जो मालूम…

4 months ago