फ़कीर मोहम्मद ‘गोया’

फ़कीर मोहम्मद ‘गोया’ की रचनाएँ

हर रविश ख़ाक उड़ाती है सबा मेरे बाद ‎ हर रविश ख़ाक उड़ाती है सबा मेरे बाद हो गई और…

5 days ago