बाक़ी सिद्दीक़ी

बाक़ी सिद्दीक़ी की रचनाएँ

अपनी धूप मे भी कुछ जल अपनी धूप मे भी कुछ जल हर साए के साथ न ढल लफ़्ज़ों के…

2 weeks ago