बुद्धिलाल पाल

बुद्धिलाल पाल की रचनाएँ

सफ़ेद रंग अक्सर एक पंछी हौले से उतर आता है मेरे कंधे पर और मैं सम्भावनाओं से घिर जाता हूँ…

6 months ago