ब्रह्मजीत गौतम

ब्रह्मजीत गौतम की रचनाएँ

यार क्यों हो गया ख़फ़ा मुझसे यार क्यों हो गया ख़फ़ा मुझसे ऐसी क्या हो गई ख़ता मुझसे ज़ख़्म ये…

5 days ago