भगवत् रसिक

भगवत् रसिक की रचनाएँ

लखी जिन लाल की मुसक्यान लखी जिन लाल की मुसक्यान। तिनहिं बिसरी बेद-बिधि जप जोग संयम ध्यान॥ नेम ब्रत आचार…

11 months ago