भरत प्रसाद

भरत प्रसाद की रचनाएँ

मेरी मातृभूमि  ओ मेरी विशाल और महान मातृभूमि मैं आज तुम्हारी ममतामयी धूल और मिट्टी को साष्टांग प्रणाम करता हूँ।…

9 months ago