वज़ीर आग़ा

वज़ीर आग़ा की रचनाएँ

सितम हवा का अगर तेरे तन को रास नहीं  सितम हवा का अगर तेरे तन को रास नहीं कहाँ से…

2 months ago