विजय वाते

विजय वाते की रचनाएँ

उसको धोखा कभी हुआ ही नहीं उसको धोखा कभी हुआ ही नहीं । उसकी दुनिया में आईना ही नहीं ।…

2 months ago