शैल चतुर्वेदी

शैल चतुर्वेदी की रचनाएँ

व्यंग्य हमनें एक बेरोज़गार मित्र को पकड़ा और कहा, "एक नया व्यंग्य लिखा है, सुनोगे?" तो बोला, "पहले खाना खिलाओ।"…

2 months ago