श्याम नारायण मिश्र

श्याम नारायण मिश्र की रचनाएँ

अहसासों का चौरा दरका कौन करे दिये-बत्तियाँ तुमने जो लिखी नहीं मैंने जो पढ़ी नहीं आँखों में तैर रहीं चिट्ठियाँ…

2 months ago