जोश मलसियानी

जोश मलसियानी की रचनाएँ

आग है आग तिरी तेग़-ए-अदा का पानी आग है आग तिरी तेग़-ए-अदा का पानी ऐसे पानी को मैं हरगिज़ न…

4 weeks ago