तुलसीराम शर्मा ‘दिनेश’

तुलसीराम शर्मा ‘दिनेश’की रचनाएँ

दोहा / भाग 1 लोट चुकी जिस पर विकल, मोर मुकुट की नोक। जो जन-मन-मल शेक हर, दायक दिव्यालोक।।1।। जिसमें…

4 months ago