फ़ैसल अजमी

फ़ैसल अजमी की रचनाएँ

अदावतों में जो ख़ल्क़-ए-ख़ुदा लगी हुई है अदावतों में जो ख़ल्क़-ए-ख़ुदा लगी हुई है मोहब्बतों को कोई बद-दुआ लगी हुई…

2 days ago