ओमप्रकाश सिंहल की रचनाएँ

खिल-खिल जाएँ सारे पत्ते छीन लिये क्यों आज हवा ने पेड़ों के सब सुंदर कपड़े, कहाँ छिपाए उसने कपड़े सारे…

2 months ago

ओमप्रकाश सारस्वत की रचनाएँ

ऋत्विक पर्व  जब भी आकाश पुष्प झरता है धरा पर तभी उगते हैं ये बर्फ के फूल हरे वृक्षों पर…

2 months ago

ओमप्रकाश वाल्‍मीकि की रचनाएँ

कोई खतरा नहीं  शहर की सड़कों पर दौड़ती-भागती गाड़ियों के शोर में सुनाई नहीं पड़ती सिसकियाँ बोझ से दबे आदमी…

2 months ago

ओमप्रकाश यती की रचनाएँ

भाव दो,भाषा प्रखर दो शारदे भाव दो, भाषा प्रखर दो शारदे लेखनी में प्राण भर दो शारदे मेरे मानस का…

2 months ago

ओमप्रकाश मेहरा की रचनाएँ

आकाश आकाश मैंने तुमसे न तुम्हारी ऊँचाई माँगी थी, न तुम्हारा विस्तार मैंने सिर्फ़ तुम्हारे एक छोटे-से टुकड़े के नीचे…

2 months ago

ओमप्रकाश चतुर्वेदी ‘पराग’ की रचनाएँ

गीत कविता का हृदय है हम अछांदस आक्रमण से, छंद को डरने न देंगे युग-बयार बहे किसी विधि, गीत को…

2 months ago

ओमप्रकाश कृत्यांश की रचनाएँ

रघुपत बाबू को गालियों से गोदता है  गेहूँ का बोझ उठाये गनेसी ज़रा रूककर देखता है मेंड़ पर बैठे रघुपत…

2 months ago

ओमप्रकाश कश्यप की रचनाएँ

सारी दुनिया मेरी है सुनो-सुनो एक बात सुनाऊँ कैसी अजब पहेली है, जिधर-जिधर मैं नजर घुमाऊँ सारी दुनिया मेरी है।…

2 months ago

ओम व्यास की रचनाएँ

परिभाषाएँ जीवन प्रसव की भूमिका जन्म प्रस्तवाना मौत उपसंहार मानव क्षणिक सुख से उपजी एक अर्थहीन अस्तित्व हीन रचना। समय…

2 months ago

ओम भारती की रचनाएँ

ऐसे अमर कवियों को संबोधित नमस्ते कवि जी, कैसे हैं आप ? बेहद गंभीर संयत शांत हैं इन दिनों में भी…

2 months ago