ओमप्रकाश सिंहल की रचनाएँ

खिल-खिल जाएँ सारे पत्ते छीन लिये क्यों आज हवा ने पेड़ों के सब सुंदर कपड़े, कहाँ छिपाए उसने कपड़े सारे…

12 months ago

ओमप्रकाश सारस्वत की रचनाएँ

ऋत्विक पर्व  जब भी आकाश पुष्प झरता है धरा पर तभी उगते हैं ये बर्फ के फूल हरे वृक्षों पर…

12 months ago

ओमप्रकाश वाल्‍मीकि की रचनाएँ

कोई खतरा नहीं  शहर की सड़कों पर दौड़ती-भागती गाड़ियों के शोर में सुनाई नहीं पड़ती सिसकियाँ बोझ से दबे आदमी…

12 months ago

ओमप्रकाश यती की रचनाएँ

भाव दो,भाषा प्रखर दो शारदे भाव दो, भाषा प्रखर दो शारदे लेखनी में प्राण भर दो शारदे मेरे मानस का…

12 months ago

ओमप्रकाश मेहरा की रचनाएँ

आकाश आकाश मैंने तुमसे न तुम्हारी ऊँचाई माँगी थी, न तुम्हारा विस्तार मैंने सिर्फ़ तुम्हारे एक छोटे-से टुकड़े के नीचे…

12 months ago

ओमप्रकाश चतुर्वेदी ‘पराग’ की रचनाएँ

गीत कविता का हृदय है हम अछांदस आक्रमण से, छंद को डरने न देंगे युग-बयार बहे किसी विधि, गीत को…

12 months ago

ओमप्रकाश कृत्यांश की रचनाएँ

रघुपत बाबू को गालियों से गोदता है  गेहूँ का बोझ उठाये गनेसी ज़रा रूककर देखता है मेंड़ पर बैठे रघुपत…

12 months ago

ओमप्रकाश कश्यप की रचनाएँ

सारी दुनिया मेरी है सुनो-सुनो एक बात सुनाऊँ कैसी अजब पहेली है, जिधर-जिधर मैं नजर घुमाऊँ सारी दुनिया मेरी है।…

12 months ago

ओम व्यास की रचनाएँ

परिभाषाएँ जीवन प्रसव की भूमिका जन्म प्रस्तवाना मौत उपसंहार मानव क्षणिक सुख से उपजी एक अर्थहीन अस्तित्व हीन रचना। समय…

12 months ago

ओम भारती की रचनाएँ

ऐसे अमर कवियों को संबोधित नमस्ते कवि जी, कैसे हैं आप ? बेहद गंभीर संयत शांत हैं इन दिनों में भी…

12 months ago