‘खावर’ जीलानी की रचनाएँ

अता के रोज़-ए-असर से भी टूट सकती थी अता के रोज़-ए-असर से भी टूट सकती थी वो शाख़ बार-ए-समर से…

2 months ago

खेम की रचनाएँ

भूषण स्वेत महा छवि सुंदर सानि सुवास रची सब सोने भूषण स्वेत महा छवि सुंदर सानि सुवास रची सब सोने…

2 months ago

खातिर ग़ज़नवी की रचनाएँ

आरज़ूएँ ना-रसाई रू-ब-रू मैं और तू  आरज़ूएँ ना-रसाई रू-ब-रू मैं और तू क्या अजब क़ुर्बत थी वो भी मैं न…

2 months ago

ख़्वाजा हैदर अली ‘आतिश’ की रचनाएँ

दोस्त हो जब दुश्मने-जाँ  दोस्त हो जब दुश्मन-ए-जाँ तो क्या मालूम हो आदमी को किस तरह अपनी कज़ा मालूम हो…

2 months ago

ख़्वाजा मीर दर्द की रचनाएँ

तुहमतें चन्द अपने ज़िम्मे धर चले तुहमतें चन्द अपने ज़िम्मे धर चले किसलिए आये थे हम क्या कर चले ज़िंदगी…

2 months ago

ख़्वाजा जावेद अख़्तर की रचनाएँ

आँखों में बीज ख़्वाब का बोने नहीं दिया  आँखों में बीज ख़्वाब का बोने नहीं दिया इक पल भी उस…

2 months ago

ख़ुशबीर सिंह ‘शाद’ की रचनाएँ

अब अँधेरों में जो हम ख़ौफ़-ज़दा बैठे हैं  अब अँधेरों में जो हम ख़ौफ़-ज़दा बैठे हैं क्या कहें ख़ुद ही…

2 months ago

ख़ुर्शीद-उल-इस्लाम की रचनाएँ

इंक़िलाब  वो कारवान-ए-गुल-ए-ताज़ा जिस के मुज़्दे से दिमाग़-ए-इश्क़ मोअत्तर है और फ़ज़ा मामूर दिलों से कितना क़रीं है नज़र से…

2 months ago

ख़ुर्शीद अहमद ‘जामी’ की रचनाएँ

ऐ इंतिज़ार-ए-सुब्ह-ए-तमन्ना ये क्या हुआ  ऐ इंतिज़ार-ए-सुब्ह-ए-तमन्ना ये क्या हुआ आता है अब ख़याल भी तेरा थका हुआ पहचान भी…

2 months ago

ख़ुर्शीद अकरम की रचनाएँ

अक़्ल बड़ी बे-रहम थी दिल को उस के दुख की घड़ी में तन्हा छोड़ दिया जिस्म ने लेकिन साथ दिया…

2 months ago