व्योमेश शुक्ल ’की रचनाएँ

जस्ट टियर्स [ इस लम्बी कविता में दर्ज़ लोग और भूगोल, दर्द और दिक्क़तें नई नहीं हैं, नया है वह…

1 month ago

वेणु गोपाल ’की रचनाएँ

अंधेरा मेरे लिए रहती है रोशनी लेकिन दिखता है अंधेरा तो कसूर अंधेरे का तो नहीं हुआ न! और न…

1 month ago

वेंकटेश चन्द्र पाण्डेय ’की रचनाएँ

नन्हा पौधा  एक बीज था गया बहुत ही, गहराई में बोया उसी बीज के अंतर में था नन्हा पौधा सोया…

1 month ago

वृन्दावनलाल वर्मा ’की रचनाएँ

आगे चले चलो अपवाद भय या कीर्ति प्रेम से निरत न हो, यदि ख़ूब सोच-समझ कर मार्ग चुन लिया। प्रेरित…

1 month ago

वृन्द ’की रचनाएँ

वृन्द के दोहे / भाग १ नीति के दोहे रागी अवगुन न गिनै, यहै जगत की चाल । देखो, सबही…

1 month ago

वृंदावनदास’की रचनाएँ

प्रीतम तुम मो दृगन बसत हौ प्रीतम तुम मो दृगन बसत हौ। कहा भरोसे ह्वै पूछत हौ, कै चतुराई करि…

1 month ago

वीरेश्वर सिंह ‘विक्रम’की रचनाएँ

प्यारे फूल प्यारे फूल! प्यारे फूल! कल तो तुम चुनमुनिया-से थे आज भला कैसे बढ़ आए? ऐसी महक और रंग…

1 month ago

वीरेन्द्र खरे ‘अकेला’ की रचनाएँ

भूल कर भेदभाव की बातें भूल कर भेदभाव की बातें आ करें कुछ लगाव की बातें जाने क्या हो गया…

1 month ago

वीरेन्द्र कुमार जैन की रचनाएँ

सौन्दर्य का एक क्षण सर्दी की सुबह : कॉलेज के बरामदे में, ताश-चिड़ियानुमा जाली, उसमें झलमलाती हरियाली पत्राली : इस ओर चिड़ियों…

2 months ago

वीरेन डंगवाल की रचनाएँ

अकेला तू तभी तू तभी अकेला है जो बात न ये समझे हैं लोग करोडों इसी देश में तुझ जैसे…

2 months ago