Poetry

चन्द्रकान्त देवताले की रचनाएँ

अगर तुम्हें नीन्द नहीं आ रही अगर तुम्हें नींद नहीं आ रही तो मत करो कुछ ऐसा कि जो किसी…

3 days ago

चन्द्र प्रकाश श्रीवास्तव की रचनाएँ

ताकि फिर न रोए बुद्ध प्रथम रुदन नहीं यह इससे पहले भी कई बार रोया बुद्ध कलिंग का बुद्ध हिरोशिमा…

3 days ago

चन्द्रगत भारती की रचनाएँ

आश्रय देता नहीं जगत,पर असमय कुदरत ने दे डाला उसको है अभिशाप। आश्रय देता नहीं जगत,पर वह निश्छल निष्पाप। बचपन…

3 days ago

चन्द्र कुमार वरठे की रचनाएँ

यह कविता तुम्हारे ही नाम कविता लिखने बैठा और तुम्हारी याद आयी लो— यह कविता तुम्हारे ही नाम वहाँ देखो…

3 days ago

चन्द्रकला की रचनाएँ

पद / 1 एहो ब्रजराज कत बैठे हौ निकुंज माँहि, कीन्हों तुम मान ताकी सुधि कछु पाई है। ताते वृषभानुजा…

3 days ago

चन्द्र की रचनाएँ

मज़दूरों के लिए एक श्रम के आँच में जल-जलकर बहे हुए लहू-पसीने के कतरे-कतरे को चूमा जाएगा चूमा जाएगा उन…

3 days ago

चन्दन सिंह की रचनाएँ

बसना यह शहर का नया बसता हुआ इलाका है यहाँ सब्ज़ियों से अधिक अभी सीमेण्ट छड़ की दुकानें हैं म्यूनिसपैलिटी…

3 days ago

चक्रधर ‘नलिन’की रचनाएँ

गीत खुशी के माँ, नभ देखो बुला रहा मैं मंगल ग्रह को जाऊँगा, शटल यान से उतर, वहाँ पर गीत…

3 days ago

चंद्रसेन विराट की रचनाएँ

उतारी जाए अब हथेली न पसारी जाए. धार पर्वत से उतारी जाए. अपनी जेबो में भरे जो पानी उसकी गर्दन…

3 days ago

चंद्रमोहन ‘दिनेश’की रचनाएँ

बिल्ली रानी बिल्ली रानी बहुत भली पहन-ओढ़ कर कहाँ चली? क्या चूहों की शामत है? नहीं, खीर की दावत है!…

3 days ago