Poetry

फ़ारूक़ बाँसपारी की रचनाएँ

ब-रोज़-ए-हश्र मिरे साथ दिल-लगी ही तो है ब-रोज़-ए-हश्र मिरे साथ दिल-लगी ही तो है कि जैसे बात कोई आप से…

5 months ago

फ़ारूक़ इंजीनियर की रचनाएँ

हर जगह ये आशियाना किस का है हर जगह ये आशियाना किस का है ज़र्रे-ज़र्रे में ठिकाना किस का है…

5 months ago

फ़ारिग बुख़ारी की रचनाएँ

देख कर उस हसीन पैकर को देख कर उस हसीन पैकर को नश्शा सा आ गया समुंदर को डोलती डगमगाती…

5 months ago

फ़ानी बदायूनी की रचनाएँ

एक मोअ'म्मा है समझने का एक मोअ'म्मा[1] है समझने का ना समझाने का ज़िन्दगी काहे को है ख़्वाब है दीवाने का…

5 months ago

फ़ातिमा हसन की रचनाएँ

बिखर रहे थे हर इक सम्त काएनात के रंग बिखर रहे थे हर इक सम्त काएनात के रंग मगर ये…

5 months ago

फ़ाज़िल जमीली की रचनाएँ

गुज़रती है जो दिल पर वो कहानी याद रखता हूँ ‎ गुज़रती है जो दिल पर वो कहानी याद रखता…

5 months ago

फ़ाएज़ देहलवी की रचनाएँ

बे-सबब हम से जुदाई न करो बे-सबब हम से जुदाई न करो मुझ से आशिक़ से बुराई न करो ख़ाकसाराँ…

5 months ago

फ़हमीदा रियाज़ की रचनाएँ

नया भारत तुम बिल्कुल हम जैसे निकले अब तक कहाँ छिपे थे भाई वो मूरखता, वो घामड़पन जिसमें हमने सदी…

5 months ago

फ़सीह अकमल

चश्म-ए-हैरत को तअल्लुक़ की फ़ज़ा तक ले गया चश्म-ए-हैरत को तअल्लुक़ की फ़ज़ा तक ले गया कोई ख्वाबों से मुझे…

5 months ago

फ़व्वाद अहमद की रचनाएँ

गली में ज़र्फ़ से बढ़ का मिला मुझे गली में ज़र्फ़ से बढ़ का मिला मुझे इक प्याला-ए-जुस्तुजू थी समुंदर…

5 months ago